एफडी क्या होता है? FD (Fixed Deposit) Kya Hota Hai

आजकल हर कोई भविष्य के लिए एफडी करना पसंद करता है। लेकिन कई लोग लोगों से यह जरूर सुनते हैं कि मैंने एफडी करवाई है, लेकिन कई लोग असल में यह नहीं जानते कि एफडी क्या होता है? FD (Fixed Deposit) Kya Hota Hai, इसलिए इस लेख में एफडी के बारे में जानकारी दी गई है।

एफडी क्या होता है? FD (Fixed Deposit) Kya Hota Hai

एफडी को फिक्स्ड डिपॉजिट भी कहा जाता है. एक निश्चित धनराशि एक निश्चित अवधि के लिए बैंक में जमा की जाती है। जिसके बदले में बैंक उस पैसे पर ब्याज देता रहता है। उसे FD (Fixed Deposit) कहा जाता है।

बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक कोई भी पुरुष या महिला एफडी निकाल सकता है। एफडी निकालने के लिए हमें बैंक में जाकर एक निश्चित रकम तय करनी होती है और यह रकम हमें कितने दिनों के लिए रखनी है यह तय करने के बाद बैंक में पैसे जमा कराने होते हैं, उसके बाद हमारी एफडी बन जाती है। और बैंक हमें FD किये हुए पैसों पर ब्याज देता रहता है।

एफडी किसी भी बैंक में कराई जा सकती है. हर बैंक की एफडी अलग-अलग होती है. यानी हर बैंक में एफडी बनाने की प्रक्रिया एक जैसी ही रहती है. फर्क सिर्फ इतना है कि कुछ बैंक एफडी के पैसों पर कम ब्याज देते हैं तो कुछ बैंक ज्यादा ब्याज देते हैं। लेकिन कोई भी बैंक एफडी पर 3% से 8% के बीच ब्याज देता है।

एफडी पर बैंक से मिलने वाला ब्याज हम हर 3 महीने में या एफडी की पूरी अवधि खत्म होने के बाद ले सकते हैं। एफडी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से की जा सकती है. एफडी पर बाजार का कोई असर नहीं होता. एफडी में रखा पैसा हर समय सुरक्षित रहता है, इसलिए ज्यादातर लोग एफडी को प्राथमिकता देते हैं।

Conclusion

किसी भी बैंक में एक निश्चित राशि एक निश्चित अवधि के लिए जमा की जाती है और बैंक उस पैसे पर एफडी कराने वाले व्यक्ति को कुछ ब्याज देता है, इसे एफडी कहा जाता है।

Leave a Comment