आईपीओ क्या होता है? IPO Kya Hota Hai

शेयर बाजार में रुचि रखने वाले लोगों को यह जरूर पता होंगा कि आईपीओ क्या है। लेकिन जो लोग शेयर बाजार में उतरना चाहते हैं उन्हें शायद यह नहीं पता होगा कि आईपीओ क्या होता है? (IPO Kya Hota Hai) कई लोग कहते हैं कि मैंने आईपीओ से इतना पैसा कमाया. अब आईपीओ आने वाला है तो आप भी पैसा लगाव तो आईपीओ का मतलब क्या है. आईपीओ का महत्व क्या है? इस सवाल का जवाब हम इस छोटी सी पोस्ट से जानते हैं।

आईपीओ क्या होता है? IPO Kya Hota Hai

किसी निजी कंपनी को National Stock Exchange (NSE)  या Bombay Stock Exchange (BSE) द्वारा सार्वजनिक किया जाता है, अर्थात उस निजी कंपनी को सार्वजनिक कंपनी बनाकर उस कंपनी के शेयरों को आम जनता द्वारा खरीदने या बेचने के लिए बाजार में उतारा जाता है, इस प्रक्रिया को IPO कहा जाता है। और इन्हें इनिशियल पब्लिक ऑफर भी कहते है।

आईपीओ क्या है? IPO Kya Hai

उदाहरण के लिए, ABC नाम की कंपनी को अपना कर्ज़ चुकाना है या कंपनी में कुछ सुधार लाना है इसलिए कंपनी को बहुत सारे पैसों की ज़रूरत है लेकिन अगर कंपनी के पास यह काम करने के लिए पैसे नहीं हैं तो कंपनी क्या करती है? यह NSE और BSE के माध्यम से अपनी निजी कंपनी को सार्वजनिक करती है, यानी अपने शेयरों को आम जनता के खरीदने के लिए बाजार में लाती है, जिससे शेयर के बदले में कंपनी को पैसे मिलते हैं और आम जनता को कंपनी में हिस्सा मिलता है जिसे कहा जाता है आईपीओ.

आईपीओ के फायदे | IPO Ke Fayde

आईपीओ से आम जनता को सबसे ज्यादा फायदा होता है. उदाहरण के लिए, जब किसी नई कंपनी का IPO आता है तो लोग सोचते हैं कि यह कंपनी नई है और उस कंपनी की अच्छी ग्रोथ हो रही है, इसलिए बहुत से लोग IPO खरीदते हैं, यानी उस कंपनी के शेयर खरीदते हैं।इससे कंपनी के पास बहुत सारा पैसा आता है, फिर कंपनी उस पैसे को अपने सुधारों में निवेश करती है, जिससे कंपनी को लाभ होता है, जिससे कंपनी के शेयरों की कीमत बढ़ जाती है और उसके कारण आम जनता अर्थात। जिन लोगों ने उस कंपनी के शेयर खरीदे है थे उसे फायदा मिलता है।

आईपीओ के नुकसान | IPO Ke Nuksan

जिस तरह आईपीओ से आम जनता को फायदा होता है उसी तरह से नुकसान भी होता है जैसे आईपीओ लॉन्च होने के बाद कंपनी के पास बहुत सारा पैसा आता है जिसके जरिए कंपनी अपना लोन चुकाती है या कोई और काम करती है लेकिन कंपनी को उतने पैसे से कुछ नही होता तो कंपनी को और भी नुकसान होता है जिसका सीधा असर कंपनी के शेयरों पर पड़ता है जिससे कंपनी के शेयर खरीदने वाले व्यक्ति को नुकसान होता है।

Conclusion

वह प्रक्रिया जिसके द्वारा किसी नई कंपनी को NSE या BSE द्वारा पहली बार निजी से सार्वजनिक किया जाता है, उसे IPO कहला जाता है।

Leave a Comment