Pe Ratio क्या होता है? PE Ratio Kya Hota Hai

शेयर बाजार में शेयर खरीदने के लिए PE Ratio जानना बहुत जरूरी है और 80% लोग शेयर खरीदने से पहले कंपनी के पीई Ratio में उतार-चढ़ाव जरूर देखते हैं। तो यह पोस्ट उन लोगों के लिए फायदेमंद होने वाली है जो नहीं जानते कि Pe Ratio क्या होता है? (PE Ratio Kya Hota Hai) तो आइए जानते हैं PE Ratio के बारे में सारी जानकारी।

Pe Ratio क्या होता है? PE Ratio Kya Hota Hai

शेयर बाजार में PE Ratio कंपनी की वैल्यूएशन दिखाने का काम करता है. चाहे उस कंपनी की वैल्यू ज्यादा हो या कम. पीई रेशियो को हम उदाहरण से समझते हैं। जैसे

हम दो दुकानों से सेम पानी की बोतलें एक ही कीमत यानी 20 रुपये पर खरीदते हैं। और उन दो दुकानों के अलावा तीसरी दुकान पर वही पानी की बोतल हमें 30 रुपये कीमत बताते है, इसलिए हम उसे नहीं खरीदते क्योंकि यह हमें बता है कि उस बोतल की वास्तविक कीमत क्या है, यानी हमें उसकी कीमत पता है। वैसे ही शेयर बाज़ार में पीई रेशियो यह दिखाने का काम करता है कि कंपनियों का मूल्य क्या है।

1 रुपया कमाने के लिए हमें कितना पैसा निवेश करना होगा यह पीई रेशियो द्वारा दर्शाया जाता है, जैसे यदि किसी कंपनी का पीई रेशियो 10 है तो हमें 1 रुपये कमाने के लिए 10 रुपये का निवेश करना होगा लेकिन यदि किसी अन्य कंपनी का पीई अनुपात 5 है . तो उस कंपनी में 1 रुपये कमाने के लिए आपको 5 रुपये निवेश करने होंगे, इसे पीई रेशियो कहा जाता है। इसका फायदा यह अनुमान लगाना है कि शेयर खरीदते समय हम कितना पैसा निवेश करके कितना लाभ या हानि कर सकते हैं।

जिस कंपनी का पीई रेशियो कम होता है यह कंपनी हमें अच्छा मुनाफा देती है क्योंकि पीई रेशियो कम होता है यानी उस कंपनी की वैल्यू कम होती है इससे पता चलता है कि उस कंपनी की ग्रोथ कम है तो आने वाले समय में इस कंपनी की ग्रोथ अच्छी होगी . और हमें मुनाफा देगा. लोग यह अनुमान लगाकर बहुत सारा पैसा निवेश करते हैं कि यह दे सकता है, लेकिन कई लोग अपना पैसा खो देते हैं, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लोग केवल यह देखते हैं कि पीई रेशियो कम है और यह नहीं देखते कि यह कम क्यों है, इसलिए कई लोगों को नुकसान होता है।

पीई रेशियो कम होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कंपनी का मुनाफा स्थिर न होना, कंपनी का उत्पाद न बिकना आदि। हमें शेयर तब खरीदना चाहिए जब कंपनी का मासिक लाभ उसके पीई रेशियो के आधे प्रतिशत से अधिक हो, तभी अधिक मुनाफा होने की संभावना अधिक होती है।
PE Ratio न्यूनतम 10 और अधिकतम 30 होता है। इसकी संभावना बहुत कम है कि PE Ratio 30 से ऊपर और 10 से नीचे हो और अगर किसी कंपनी का PE Ratio 15 से नीचे है तो उस कंपनी के शेयर हमें अच्छा मुनाफा दे सकते हैं।

Conclusion

जो यह जानकारी देता है कि हर कंपनी का वर्तमान मूल्य क्या है और पिछले समय में उस मूल्य में कितना उतार-चढ़ाव हुआ है, उसे PE Ratio कहा जाता है।

Leave a Comment